हर संघर्ष कर पत्रकार सुरक्षा कानून दिलाने के लिये महाअभियान की हुँकार भरी

1567

लखनऊ।
उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में अखिल भारतीय पत्रकार सुरक्षा समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष जिग्नेश कलाड़िया के निर्देशानुसार यूपी प्रेस क्लब लखनऊ में एक कार्यकरिणी बैठक का आयोजन किया गया। अखिल भारतीय पत्रकार सुरक्षा समिति की बैठक में अखिल भारतीय पत्रकार सुरक्षा समिति के राष्ट्रीय सचिव सुनील चौधरी, प्रदेश अध्यक्ष अजय प्रताप नारायण सिंह, प्रदेश अध्यक्ष दिल्ली आशा यादव, प्रदेश महासचिव एम.एम. सरोज, प्रदेश उपाध्यक्ष चंद्र मोहन गोपाल, कोआर्डिनेटर पूनम बहल, प्रदेश संयोजन महिला विंग मनीषा स्ािंह चौहान, प्रदेश मंत्री अपर्णा मिश्रा, शिवशरण सिंह अध्यक्ष यूपी वर्किंग जर्नलिस्ट, कानपुर जिलाध्यक्ष मो.इकराम, कार्यकारिणी दिलशाद सैफी, महेश मिश्रा, गुडडू निशाद, धर्मेन्द्र यादव, दुर्गेश कुशवाहा, हैदर अली, सत्यम शर्मा, एस.सी. सिंह उर्फ चन्दन, अलका श्रीवास्तव, रेनू द्विवेदी, आभा शुक्ला, सान्या मिश्रा, नीधि मिश्रा, नीशा शुक्ला समेत कई जनपदों से आये सैकड़ो पत्रकार अपनी मौजूदगी दर्ज कराई। उत्तर प्रदेश श्रम बोर्ड के सदस्य अभय प्रताप नारायण सिंह ने भी कार्यक्रम में पहुंचे और पत्रकारों के साथ लगातार हो रहे अत्याचार पर लगातार सरकार में बात हो रही है। पत्रकारों के लिए सरकार काम कर रही है। वही यूपी वर्किंग जर्नलिस्ट अध्यक्ष शिवशरण सिंह ने कहां कि सरकार के उच्चाधिकारियों से पत्रकारों के हित के लिए कार्य पर बात हो रही है। जिस तरह से कोरोना काल में हमने अपने बीच पत्रकारों को खोया है। राष्ट्रीय सचिव सुनील चौधरी ने मौजूद पत्रकारो से कहा कि आज जिस तरह पत्रकारों की उपेक्षा की जा रही है अव ठीक नही है। जब बात आती है संविधान के चौथे स्तम्भ की तो हमने पूछा की जब हमारा संविधान में कोई स्थान नही है। अखिल भारतीय पत्रकार सुरक्षा समिति के प्रदेश अध्यक्ष अजय प्रताप नारायण सिंह ने मीडिया से रूबरू होते हुए बताया कि कोरोना संक्रमण काल में लगातार हमारे पत्रकार बंधुओं की उपेक्षा हुई है यहां तक की डाक्टरों, सफाई कर्मचारियों को सरकार ने कोरोना योद्धा के रुप में माना लेकिन हमारे पत्रकार बंधुओं को आखिरकार कोरोना योद्धा क्यों नही माना इसी बात को लेकर आज हम अखिल भारतीय पत्रकार सुरक्षा समिति के बैनर तले पत्रकारों की सुरक्षा की आवाज को सरकार तक पहुंचाने का कार्य करना ही हमारा मुख्य उद्देश्य है। और हमारी प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मांग है कि पत्रकार के लिए सुरक्षा के लिए भी कानून बनाए जिससे पत्रकार निर्भिक होकर पत्रकारिता कर सके i
र्ट

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here